Wednesday, October 24, 2007

कपूर, नँदा, बच्चन * ३ परिवार * ताने * बाने

कोमेडीयन राजेन्द्र नाथ श्रीमती कृष्णा राज कपूर के सगे ,छोटे भाई हैँ और उनसे बडे भाई हैँ प्रेम नाथ जो बीना राय के पति देव हैँ
कृष्णा भाभी जी बडी शालीन, सुशील और सुसँस्कृत महिला हैँ जिन्हेँ मैँ आज भी बडे आदर व स्नेह से याद करती हूँ और वे भी जबलपुर की बेटी हैँ - राजेन्द्र नाथ और प्रेम नाथ की सगी बहन हैँ वे. इस फोटो मेँ भाई बहन का प्यार साफ दीखाई दे रहा है.
"शो - मेन" के नाम से विख्यात अमर कलाकार राज कपूर जी की सफलता के पीछे उनकी पत्नी का योगदान, हमेशा सुनहले पर्दे के पीछे, छिपा ही रह गया. उनका आतिथ्य जिसने भी, भोगा, वो भाभी जी के उदार माँ स्वरुप को कभी भूल नहीँ पाया.ऋषि कपूर, नीतू सिँह ,पुत्र व बहू ,रणधीर, बबीता और सफल अदाकाराएँ करिश्मा व करीना, राजीव कपूर, और २ पुत्रियाँ बडी रीतू और छोटी रीमा तथा उनके नाती, पोते सब की प्यारी हैँ कृष्णा जी -- मेरी अम्मा सुशीला को वे बडा स्नेह देतीँ थीँ." जाने कहाँ गये वो दिन " इस गीत से ..विदा ..
श्रीमती रीतू राजन नँदा
सबसे छोटे राजीव कपूर, बडी बहन रीतू सबसे बडे भाई रणधीर के साथ-

मुझे याद है कि एक बारी, अम्मा ने बाजरे की मोटी रोटी पर गुजराती सब्जी =ऊँधिया रखकर कृष्णा भाभी जी को दी वे अपनी गाडी मेँ बैठ कर चेम्बूर , अपने घर जाने को उतावलीँ थीँ -
- राजीव जो उस समय ५ साल के होँगेँ , उन्हेँ भी भाभी जी ने कहा, "ले खा देख तो कितनी स्वाद है ये " तो राजीव अपने मुँह पे हाथ रख के बोले, " नहीँ मम्मी, मैँ प्लेट नहीँ खाता " और हम सभी खूब हँसे थे --
कि राजीव बाजरे की मोटी रोटी जिसे गुजरात मेँ "रोटला" कहते हैँ
उसे "प्लेट" सलझ कर मना कर रहा था !! ;-)
बचपन की यादेँ और बातेँ, आज भी याद आतीँ हैँ तो मुस्कुराहट छा जाती है चेहरे पे !
अमिताभ बच्चन - रीतु राजन नँदा के समधी हैँ --
अब इसी कपूर खानदान से , बच्चन परिवार का रिश्ता जुड गया है -- रूतू राजन नँदा के उध्योगपति पुत्र निखिल नँदा से,जया व अमिताभ बच्चन की सबसे बडी सँतान,श्वेयाम्बरा ब्याहीँ हैँ और "१ बिटिया, नव्य नवेली " और छोटे बेटे "अगस्त्य " की मम्मी भी हैँ श्वेता और भाई अभिषेक की बडी दीदी हैँ तो ऐश्वर्या की नन्द भी !

श्रीमती तेजी हरिवँशराय बच्चन अपने बडे
पुत्र अमिताभ के साथ बैठी हुई हैँ --

तेजी आँटी जी कई महीनोँ से बीमार अस्पताल मेँ हैँ
- ईश्वर उन्हेँ आराम से रखेँ ये प्रार्थना है मेरी --
मेरी कोलेज का नाम था मीठी बाई आर्ट्स्` कोलेज .
......जो जुहु स्कीम के इलाके मे,विले - पार्ले, बँबई शहर मेँ है.
इसी जुहु स्कीम को 'सितारोँ की नगरी" भी कहा जाता है.
रास्ता नँबर -१ से क्रम शुरु होता है और हर रास्ते पे,
कोई ना कोई फिल्मी हस्ती का घर भी दीख जाता है.
सहेलियोँ के साथ कार से सैर करते वक्त कईयोँ के घर देखेथे..
.जो आज भी याद हैँ .
.सँगीतकार लक्ष्मीकाँत का घर, बिहारी बाबू शत्रिघ्न सिन्हा का घर, स्वप्न सुँदरी हेमा मालिनी, धर्मेन्द्र जी का अलग अलग बँगला,यश चोपरा,जे. ओम प्रकाश, आत्माराम ( गुरुदत्त के भाई ) और जी हाँ, सबसे प्रख्यात, अमिताभ का बँगला - "प्रतीक्षा " और जी. पी. सिप्पी जी का पुराना घर जिसे उन्होँने अमिताभ को दे दिया वह बँगला "जलसा" ....इत्यादी, इत्यादी ...
Do see these Links :



10 comments:

आलोक said...

रोटला वाला वाकया पसंद आया।

आलोक

Lavanyam - Antarman said...

धन्यवाद आलोक जी -

Harshad Jangla said...

Lavanyaji

A memorable blog with interesting incidences.You did not mention about the third brother of Krishnaji:Narendranath who used to do villains roles. I know Premnath has passed away, where are other two? Your mentioning about Sitaron ki Nagari brought back my memories of the great city Mumbai.I think Kapur surname in the film industry has a mojority!
Thanks for an interesting blog.

mahashakti said...

अच्‍छा लगा, दो परिवारों को एक साथ देख कर।

Divine India said...

आदरणीय मैम,
बहुत दिनों बाद ब्लाग पर आया हूँ… आपकी यह जानकारी मेरी काम ही आयेगी…। बहुत अच्छा लगा कपूर, नंदा, बच्चन परिवार के संदर्भ में जानकार!

Lavanyam - Antarman said...

Harshad bhai,

Narendra Nath who played a villian was called "Kukku bhaiyaa " by us.
Actually, Krishna bhabhi ji's Father had 3 wives.
The first one had 1 son --& died
Then the 2nd wife had Prem Nath, Krishna & Rajendra Nath --- & she too passed away.
Then the 3 rd wife had 8 or 9 children.Narendra Nath was her child.So is Umi who is Mrs Prem Chopra --
some trivial family History for you --
Mumbai Nagri sub se pyari hai na ?
Enjoy ~~
rhgds,
L

Lavanyam - Antarman said...

प्रेमेन्द्र जी ,
शुक्रिया --
स - स्नेह,
-- लावण्या

Lavanyam - Antarman said...

दीव्याभ
चलिये, आपके काम आयेगा ये तो मुझे सँतोष होगा -
शुक्रिया --
स - स्नेह,
-- लावण्या

Udan Tashtari said...

अच्छा लगा यह सब जानकारी लेकर. ऐसे ही बताते रहें.

Lavanyam - Antarman said...

समीर भाई,
आपका बहुत बहुत आभार !
स स्नेह,
--लावण्या