Sunday, April 10, 2011

सागुराओ का प्रश्न

सागुराओ का प्रश्न
______________
पहचानो , तो मैं कौन हूँ ?
' मोजावी ' रण की शान हूँ !
मरू - भूमि की आन हूँ -
रेतीले रेगिस्तान का प्राण हूँ !
अग्नि पोषित मरुतों का वरदान हूँ !
कायदों से सुरक्षित व्यवधान हूँ !
सूखे अंतस्तल का आह्वान हूँ !
जिजीविषा का संचित मान हूँ !
निर्जन में हरियाली का एक मात्र स्थान हूँ !
सन्नाटों की परतों में छिपा , गान हूँ !
मानव मन की आशाओं का यान हूँ !
धरती माँ के आँगन का धनमान हूँ !
सब पर प्रेम लुटाता कुदरत का संविधान हूँ !
बतलाओ
....................................................
मैं कौन हूँ ?
Ans:
" ऐरिजोना " के मोजावी रेगिस्तान का सागुराओ कैक्टस , महान हूँ !
http://www.yosemitepark.com/

योसोमेटी वेली : अमरीका का पश्चम दिशा में स्थित : पर्यटन स्थल : तस्वीरों में ...

Reply



योसोमेटी वेली : अमरीका का पश्चम दिशा में स्थित : पर्यटन स्थल : तस्वीरों में ...
मर्सड नदी की धारा यासोमेटी परबत कंदराओं के मध्य बहती हुई देखते ही आपको भारत का कुलु मनाली या कश्मीर याद आ जाएगा !
वैसा ही द्रश्य मानस पटल पर झलक जाएगा देखिये द्रश्य - १

द्रश्य - २
एक पाषाण शिखर : जिसे " एल कपितान " का नाम मिला हुआ है और सदा धुंध के बादलों से जिसका समतल शिखर आच्छादित रहता है
-- देखें
एल कपितान

ऊंचे घने पाइन के वृक्ष देवदारों से दीखलाई पड़ते हैं जिनके मध्य से जल प्रपात की धारा दीखलाई देती है जो मध्य तक झरने के बाद बर्फ में तब्दील हो जाती है . देखें द्रश्य - ३

13 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

वाह, सुन्दर सैर।

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

अरे वाह, चित्र बडे सुन्दर हैं। यात्रा का कुछ और विवरण भी यहाँ रखिये न!

मीनाक्षी said...

बेहद खूबसूरत चित्र...कुदरत की सुन्दरता मन मोह लेती है.

Harshad Jangla said...

Lavanya Di

Wonderful...description and pic...

Agni poshit Maruton...means?

-Harshad Jangla
Atlanta, USA

Abhishek Ojha said...

awesome !

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

@ Harshad bhai,

Agni Poshit = nurtured by Fire

Maruton =

ऋग्वेद 1/37/11 मरुतो देवता:
त्यं चिद् घा दीर्घं पृथुं मिहो नपातम मृध्रम् !
प्र च्यावयान्ति यामाभि: !!
(It is important to bear in mind that according to modern science of microbiology, the entire universe is pervaded by microbes. All life science phenomenons is progressively being conceive to be caused by actions initiated by microbial populations. In Vedas ‘Maruts’ मरुत are what modern science describes as microbes. Winds, Atmosphere, Rizosphere, Biosphere every physical reality is permeated by Microbes. This in turn is precisely the case with Maruts as described in Vedas.)

ajit gupta said...

येशूमटी तो हम भी गए थे, लेकिन उस समय जलप्रपात बहुत ही कम था। वहाँ तो हमने तारों का आनन्‍द लिया था। जिस दिन हम गए थे उसे दिन दुनिया भर से खगोल शास्‍त्री वहाँ एकत्र हुए थे और उन्‍होंने हमें दूरबीन के द्वारा तारों का विशाल स्‍वरूप दिखाया था। वह बहुत ही ज्ञानवर्द्धक और रोमांचक था।

Harshad Jangla said...

THANK YOU LAVANYA DI...

-HARSHAD JANGLA
ATLANTA USA

Patali-The-Village said...

बेहद खूबसूरत चित्र|कुदरत की सुन्दरता का तो कहना ही क्या|

kunwarji's said...

वाह!अद्भुत प्रस्तुतीकरण प्रकृति के सुन्दर नजारों का....



कुँवर जी,

DesiGujju said...
This comment has been removed by a blog administrator.
दर्शन कौर धनोए said...

वाह ! अविश्वरनिय !

prativad said...

खूबसूरत