Friday, January 25, 2013

चाँद मेरा साथी है.. और अधूरी बात


चाँदनी / - लावण्या शाहचाँद मेरा साथी है..
और अधूरी बात
सुन रहा है, चुपके चुपके,
मेरी सारी बात!
चाँद मेरा साथी है..

चाँद चमकता क्यूँ रहता है ?
क्यूँ घटता बढता रहता है ?
क्योँ उफान आता सागर मेँ ?
क्यूँ जल पीछे हटता है ?
चाँद मेरा साथी है..
और अधूरी बात
सुन रहा है, चुपके चुपके,
मेरी सारी बात!
क्योँ गोरी को दिया मान?
क्यूँ सुँदरता हरती प्राण?
क्योँ मन डरता है, अनजान?
क्योँ परवशता या अभिमान?

चाँद मेरा साथी है..
और अधूरी बात
सुन रहा है, चुपके चुपके,
मेरी सारी बात!

क्यूँ मन मेरा है नादान ?
क्यूँ झूठोँ का बढता मान?
क्योँ फिरते जगमेँ बन ठन?
क्योँ हाथ पसारे देते प्राण?

चाँद मेरा साथी है...
और अधूरी बात
सुन रहा है, चुपके चुपके,
मेरी सारी बात!
Chaandanee / Laavanyaa Shaah;Chaand Meraa Saathee Hai..
aor Adhooree Baat
sun Rahaa Hai, Chupake Chupake,
meree Saaree Baat!
chaand Meraa Saathee Hai..

chaand Chamakataa Kyoon Rahataa Hai ?
kyoon Ghatataa Badhataa Rahataa Hai ?
kyon Uphaan Aataa Saagar Men ?
kyoon Jal Peechhe Hatataa Hai ?
chaand Meraa Saathee Hai..
aor Adhooree Baat
sun Rahaa Hai, Chupake Chupake,
meree Saaree Baat!
Kyon Goree Ko Diyaa Maana?
kyoon Sundarataa Haratee Praana?
kyon Man Darataa Hai, Anajaana?
kyon Paravashataa Yaa Abhimaana?

Chaand Meraa Saathee Hai..
aor Adhooree Baata
sun Rahaa Hai, Chupake Chupake,
meree Saaree Baat!

Kyoon Man Meraa Hai Naadaana ?
kyoon Jhoothon Kaa Badhataa Maana?
kyon Phirate Jagamen Ban Thana?
kyon Haath Pasaare Dete Praana?

Chaand Meraa Saathee Hai...
aor Adhooree Baata
sun Rahaa Hai, Chupake Chupake,
meree Saaree Baat!

Photo

4 comments:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

वन्देमातरम् ! गणतन्त्र दिवस की शुभकामनाएँ!

प्रवीण पाण्डेय said...

सबके मन की सुनता है,
वही अकेला सहता है।

ब्लॉग बुलेटिन said...

गणतंत्र दिवस २६/०१/२०१३ विशेष ब्लॉग बुलेटिन ब्लॉग बुलेटिन टीम की ओर से आप सब को गणतंत्र दिवस की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं ! आज की ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

expression said...

बहुत सुन्दर...
प्यारी रचना..

अनु