Sunday, June 15, 2008

महान रशियन पेंटर स्वेतोस्लाव रोरिक ( Thank you Mr.. घोस्ट बस्टर जी )

रोरीच जी की कलाकृति
श्रीमान घोस्ट बस्टर जी ने ये कहा था ...मैं जानती थी पापा जी रोरीच जी का हाथ थामे खड़े हैं ..परंतु उनके बारे में लिखा नहीं था जिसकी कमी , पूरी कर दी आपने ..बहुत धन्यवाद जो आप मेरा लिखा ध्यान से पढ़ते ही नहीं, मेरी कमियों को सुधार भी देते हैं ...

इस तरह की टिप्पणी मिलना , हौसला बढाता है और ज्यादा मेहनत करने की प्रेरणा देता है -

ये श्रीमान घोस्ट बस्टर जी ने कहा था ~~~
" पंडित नरेन्द्र शर्मा जी जिनका हाथ थामे खड़े हैं वे महान रशियन पेंटर स्वेतोस्लाव रोरिक (Svetoslav Roerich) हैं।

हिमांशु राय की मृत्यु के बाद सन् १९४५ में देविका रानी ने इनसे विवाह किया था। रोरिक की एक पेंटिंग सन् १९९८ में वडोदरा के संग्रहालय में देखने की याद है। नीले रंग का क्या ही शानदार प्रयोग था. अब तक आंखों के सामने है.

भारत सरकार रोरिक पर एक डाक टिकिट जारी कर चुकी है.

यहाँ देख सकते हैं। "

ये भी लिंक देखें -- रोरीच जी की कलाकृति यहां हैं -

http://www.roerich.kar.nic.in/art.htm

6 comments:

Gyandutt Pandey said...

सुन्दर! दो महान का सानिध्य।

mamta said...

सुंदर कलाकृति।

ठीक से याद नही पर किसी पहाड़ शिमला या कोई और पर बहुत साल पहले जब देविका रानी का घर देखने गए थे तो वहां पर इनकी बनी पेंटिंग देखी थी।

अल्पना वर्मा said...

ek mahan kalakar ki kriti se parichay karane ke liye dhnywaad...post padhne se pahle main usee mein atak gayee thee.

dhnywaad Didi.
-alpana

आभा said...

दो महान जन और रोरिच जी की सुन्दर पेटिंग से परिचित करवाने के लिए शुक्रिया लावण्या जी

Udan Tashtari said...

आपका और घोस्ट बस्टर जी का आभार इस जानकारी के लिए. पेन्टिंग बहुत बढ़िया है.

Ghost Buster said...

अरे, आपने तो पोस्ट ही बना दी. बहुत बहुत आभार. आपको पढ़ना हमेशा एक सुखद अनुभव रहता है. नई लिंक के लिए भी शुक्रिया. बहुत सुंदर कलाकृतियाँ हैं.