Sunday, September 21, 2008

आज २२ सितम्बर है और् सँजय भाई की सालगिरह है!

हेप्पी बर्थ डे...टू....यू .... हेप्पी बर्थ डे...टू....यू .... हेप्पी बर्थ डे...संजय भाई .... हेप्पी बर्थ डे...टू....यू .... आज संजय भाई को सालगिरह पर , बहुत बहुत बधाई !! :)

जोग लिखी संजय पटेल की / श्रोता बिरादरी और http://surpeti.blogspot.com/ के सर्जक हैं वे !
और संजय भाई सुपुत्र हैं , आदरणीय श्री नरहरि पटेल जी के !!
जिनका जाल घर है , मालवी जाजम......बोलोगा तो बचेगी मालवी
जो कहते हैं , ( बहुत विनम्रता से ) ,
( नरहरी जी के शब्द )
" मालवा की सरज़मीन का एक साधारण बाशिंदा जिसे अपने मालवा से बेहद मोहब्बत है , मालवी लोक संस्कृति, संगीत, काव्य के साथ प्रसारण, रंगमंच, लेखन और सामाजिक हलचलों से जुडा हूं " ...सच ये है दोस्तों ,
एक असाधारण कला प्रेमी .......सज्जन पिताजी की संतान हैं संजय भाई !

आहा.... कुश भाई ने , कॉफी विद कुश वाले ही , जी हाँ और "कुश की कलम", नेस्बी , के रचियता , उन्होँने अपनी, बढिया कोफी भी भेजी है .. है ना खुशबु , असल कोलंबियन कोफी की ? और उपर ढेर सारा झाग ...आहा !

ये लीजिये...फरारी कार के आकार की चोकलेट भी आ गयी !! :-))
शुध्ध शाकाहारी, केले के पत्ते पे सजा सुस्वादु भोजन भी तैयार है !!

आहा !! क्या कहने ...... छप्पन भोग हाज़िर हैं !! फरसान , मिष्ठान , चटनी, पापड, अचार, रायता, दाल, सब्जी , पूडी , श्रीखंड सभी है !! ॥

दावत में आप सभी शामिल हो जाइए और जोर से कहीये,
" आप जियो , हजारों साल, ओ संजय भाई और साल के दिन हों पचास हज़ार ..."
संजय भाई , आप मुझे आपकी बड़ी बहन कह कर बुलाते हैं !
आपका स्नेह , कुबूल करते हुए, आपकी " मोटी बेन " ( बड़ी बहन )
आपको अनेकों शुभकामनाएं और आशीर्वाद भेज रही है ॥
आज २२ सितम्बर के दिन, "लावण्यम` ~~ अंतर्मन` " जाल घर पर ,
आपकी सालगिरह का उत्सव है !!
~~ आप सभी , को सपरीवार, निमंत्रण है !! ..... आ रहे हैं ना आप सब ? :)
Enjoy the Celebrations Folks !!
& listen to these Ever green song ~~~
http://www।youtube.com/watch?v=L4dCwRVWjKc&feature=related
http://www.youtube.com/watch?v=LuHBt5FPedA
- लावण्या

39 comments:

दिनेशराय द्विवेदी said...

संजय भाई को जन्मदिन की बधाई। इतनी लज्जतदार दावत सजाने के लिए आप का शुक्रिया। रोज ऐसी ही दावत सजाती रहें।

राज भाटिय़ा said...

संजय भाई को जन्मदिन की बधाई। अरे रुको सब मत खा लेना हम भी आ रहे हे, दावत खाने कॊ इतना सुन्दर चित्र जो दिखाया हे ओर वो भी खाने का तो मुंह मे पानी तो आयेगा ना, ओर आप सब को भी बहुत बहुत बधाई, ओर खुब खुशियां मनाओ
धन्यवाद

Sanjay Karere said...

जन्‍मदिन की शुभकमनाएं संजय भाई. दावत बहुत शानदार है.

Neeraj Rohilla said...

संजय भाईजी जो जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें ।

Smart Indian said...

बर्थडे बॉय संजय जी को जन्मदिन की शुभकामनाएं.
लावण्या जी, आप भी बधाई की पात्र हैं इतने सुंदर आयोजन के लिए.

Udan Tashtari said...

संजय भाई को जन्मदिन की बधाई।

अमिताभ मीत said...

जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनाएं संजय भाई.

उन्मुक्त said...

संजय जी को जन्मदिन की शुभकामनायें।

Sajeev said...

लावण्या दी आपका आभार नही तो हमें पता ही नही चलता संजय भाई तो हमें बताते नही :), संजय भाई की मैं क्या तारीफ करूँ, बहुत थोड़े समय में ही उनसे एक ऐसा सम्बन्ध बन गया है जैसे हम बरसों से एक दूजे को जानते हों. ईश्वर उन्हें बहुत लम्बी उम्र दें, और वो युहीं संगीत और भाषा की सेवा करते रहें. संजय भाई को बहुत बहुत बधाई

पारुल "पुखराज" said...

लावण्या दी आप मोटी बेन "और मै छोटी, :-) संजय भाई को जन्मदिन की खूब सुरीली बधाई

Arun Aditya said...

संजय भाई को जन्मदिन की बधाई।

ताऊ रामपुरिया said...

संजय भाई को जन्म दिन की हार्दिक शुभकामनाएं !
दावत का मेनू देख कर तो आज नाश्ता भी ज्यादा
हो गया ! :) हमेशा की तरह एक अद्भुत स्टाइल !
धन्यवाद !

Gyan Dutt Pandey said...

संजय जी को बहुत बधाई जन्म दिन की। और उसकी प्रस्तुति तो आपने बहुत मन से बहुत लाजवाब की है!

रंजू भाटिया said...

संजय दा को जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई ..आपने तो बहुत अच्छी पार्टी है सजाई .शुक्रिया लावण्या जी

mamta said...

संजय जी को जन्मदिन बहुत-बहुत मुबारक हो।

Nitish Raj said...

चॉकलेट मुझे बहुत पसंद है वो फरारी मेरे को बहुत पसंद आई। काश चख भी सकता। बहरहाल संजय जी को जन्मदिन की ढेरों बधाई।

डॉ .अनुराग said...

संजय भाई को जन्मदिन की बधाई।

pallavi trivedi said...

संजय जी को जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई...इस केक और फरारी में से हमें भी कुछ मिल सकता है क्या? :)

कुश said...

संजय भाई को जन्मदिन की बधाई।.. दावत वाकई शानदार है..

Ghost Buster said...

केक भी बढ़िया है पर केले के पत्ते वाला भोजन देखकर तो भूख भड़क उठी. संजय जी को जन्मदिन की बधाइयाँ.

शानदार पोस्ट.

शायदा said...

संजय भाई जन्‍मदिन की बहुत बधाई और लावण्‍या जी का धन्‍यवाद ऐसी सुंदर दावत ब्‍लॉग पर सजाने के लिए।

अफ़लातून said...

संजय भाई को वर्षगांठ पर सप्रेम शुभ कामनाएं ।

sanjay patel said...

आप सभी के प्रेम के आगे नतमस्तक हूँ.
ईश्वर का आशीर्वाद और आपकी दुआएँ मुझमें
विवेक बनाए रखे..ब्लॉग बिरादरी के रूप में मिला यह परिवार और प्रतिसाद...ज़िन्दगी की अनमोल अमानत है....एक ख़ास संयोग मेरे ब्लॉग पर आकर देखिये

Abhishek Ojha said...

संजयजी को बहुत-बहुत बधाई.

और पार्टी के बारे में तो बस लोभ हो गया... काश हमें भी कोई ऐसी पार्टी दे !

जल्दी से टिपिया के भागता हूँ... मुंह में पानी रुक ही नहीं रहा :-)

डॉ .अनुराग said...

आपको जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाये .....अपना जन्मदिन छुपाया आपने.....केक का इंतज़ार रहेगा

Manish Kumar said...

aap donon ko janmdin ki hardik badhai.
bahut hi lazeez vyanjan pesh kiye aapne

siddheshwar singh said...

बधाई हो बधाई!!!!

अनिल रघुराज said...

लावण्या जी, आज तो आपका भी जन्मदिन है। संजय जी के साथ आपको भी जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएं।

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

अरे ..रे ...एक गडबड हो गई है सँजय भाई और साथियोँ ..मेरा जन्म दिन २२ नवम्बर को है
सितम्बर नहीँ ..चलिये ...आज सभी की बधाएयाँ स्वीकार करती हूँ ..

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

http://www.sahityakunj.net/LEKHAK/L/LavanyaShah/LavanyaShah_main.htm
Please see this Link --

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

लावण्या शाह

मेरा परिचय : मैं लावण्या, बम्बई महानगर मे पली बड़ी हुई - शोर शराबे से दूर, एक आश्रम जैसे पवित्र घर में, मेरे पापाजी, स्वर्गीय पं. नरेन्द्र शर्मा व श्रीमती सुशीला शर्मा की छत्रछाया में, पल कर बड़ा होने का सौभाग्य मिला।
मेरे पापाजी एक बुद्धिजीवी, कवि और दार्शिनिक रहे। मेरी अम्मा, हलदनकर इनस्टिटयूट में 4 साल चित्रकला सीखती रही। 1947 में उनका ब्याह हुआ और उन्होंने बम्बई मे घर बसा लिया।
मेरा जन्म 1950 नवम्बर की 22 तारीख को हुआ।

Unknown said...

बार बार ये दिन आए,
बार बार ये दिल गाए,
तुम जियो हज़ारों साल,
ये मेरी है आरज़ू....

छोटे भाइयों पर दीदी का आशीर्वाद बस यूं ही बरसता रहे...इससे बढ़िया बर्थडे गिफ्ट और किसी को क्या चाहिए...ठीक कहा ना संजय भाई...

जय कन्हैया लाल की
हाथी घोड़ा पालकी
नंद के गोपाल की
और संजय लाल की..

कहा सुना माफ़,
-पंकज

Harshad Jangla said...

संजयभाई के जन्मदिन पर सेंकडो बधाइयां | उनको तो हम सब प्यार करते ही हैं लेकिन उनके सभी ब्लोग्स को तो हम सर आँखों पर ले सकते हैं इतनी काबलियत से भरे वे ब्लोग्स हैं | लावण्या जी का भी धन्यवाद करते हुए मैं उन सभी टिप्पणीकारों की जिन्हों ने लावण्याजी के आज के ब्लॉग पर कुछ न कुछ लिखा है , उनको एक हार्दिक बिनती करता हूँ कि संजयभाई के ब्लॉग "श्रोताबिरादरी" को पढ़े जिस पर आजकल दीदी के जन्मदिन का उत्सव चल रहा है | यही उनके जन्मदिन की सच्ची शुभ कामना होगी |
फ़िर एक बार उनको जन्म दिन मुबारक |
-हर्षद जांगला
एटलांटा, युएसए

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

आज का जन्मदिवस का आयोजन एक लँबे अर्से तलक याद रहेगा !
Especially for the Shakespearean "COMEDY Of ERRORS " ..which was an honest misunderstanding !
:-)
सँजय भाई ,का दिन बढिया गुजरा है ये जानती हूँ :)
आप सभी का यहाँ पधार कर पार्टी की शान मेँ चार चाँद लगाने के लिये
बहुत बहुत शुक्रिया !!
हिन्दी ब्लोग जगत मेँ यूँही पारिवारिक प्रेम बना रहे, इस आशा के साथ,
आज का कार्यक्रम यहीँ ..पूरा करते हैँ और आगे बढते हैँ ..
स्नेह सहित
( मोटा बेन की राम राम )

- लावण्या

Tarun said...

लावण्याजी, हमें पता चल गया है आपका भी जन्मदिन उसी दिन है इसलिये आपको जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई, संजय भाई को बधाई उन्हीं के ब्लोग में दे दी है।

art said...

hamaari or se bhi bahut badhayi.....

Unknown said...

वाह लावण्‍या दी, आपने दावत का शानदार इंतजाम किया है। संजय जी को जन्‍मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं। आपको भी जन्‍मदिन की अग्रिम बधाई।
आपने परास का अर्थ पूछा था। दरअसल संस्‍कृत व हिन्‍दी का पलाश ही भोजपुरी का परास है। पलाश वृक्ष को ही टेसू (शायद इसके चटख टहकार रंग के कारण) और ढाक भी कहते हैं। भोजपुरी क्षेत्र के कुछ हिस्‍सों में खेती के आरंभ के अनुष्‍ठान - जिसे समहुत कहा जाता है - में पलाश वृक्ष की टहनी व पत्तियों की जरूरत पड़ती है।

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

अशोक जी, "परास " और "पलाश" एक ही है अब पता चला है ~~ स्वातिजी , आप दोनोँ का आभार !

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

तरुण भाई आपका भी आभार ! :)